कुछ पल जगजीत सिंह के नाम

अक्टूबर 16, 2006

परेशाँ रात सारी है, सितारों तुम तो सो जाओ

Filed under: A Mile Stone,Albums,Jagjit Singh — Amarjeet Singh @ 6:20 अपराह्न
Tags: , , , ,

परेशाँ रात सारी है, सितारों तुम तो सो जाओ
सुकूते मर्ग तारी है, सितारों तुम तो सो जाओ

(परेशाँ : disordered, troubled; सुकूते मर्ग : silence before death; तारी : prevalent)

हमें तो आज की शब पौ फटे तक जागना होगा
यही किस्मत हमारी है, सितारों तुम तो सो जाओ

(शब : night; पौ फटे : till dawn)

हमें भी नींद आ जाएगी, हम भी सो जाऐंगे
अभी कुछ बेक़रारी है, सितारों तुम तो सो जाओ

(बेक़रारी : restlessness)

Advertisements

1 टिप्पणी »

  1. chitra singh is great

    टिप्पणी द्वारा Pravesh — दिसम्बर 16, 2013 @ 12:25 अपराह्न | प्रतिक्रिया


RSS feed for comments on this post. TrackBack URI

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

WordPress.com पर ब्लॉग.

%d bloggers like this: