कुछ पल जगजीत सिंह के नाम

नवम्बर 9, 2006

कहता है बाबुल


कहता है बाबुल, ओ मेरी बिटिया,
तु तो है मेरे, जिगर की चिठिया,

कहता है बाबुल, ओ मेरी बिटिया,
तु तो है मेरे, जिगर की चिठिया,
डाकिया कोई जब आयेगा,
तुझको चुरा के ले जायेगा,

कटेगा कैसे लम्हा, तेरे बिना बता,
जियुंगा कैसे तन्हा, तेरे बिना बता,
कटेगा कैसे लम्हा, तेरे बिना बता,
जियुंगा कैसे तन्हा, तेरे बिना बता,

तु सुहागन रहे, संग साजन रहे रात दिन,
इस खुशी के लिये, हर सितम मै उठ्ठा लूंगा,
तेरे जाने का गम मुझको होगा मगर लाडली,
लेके इस दर्द को मै सदा मुस्कुराउगा,

बाबुल तो दिल से दे रहा दुआ यही,
खुशी के साये मै हो ज़िन्दगी तेरी,
बाबुल टो डिल् से डे रह दुआ यहि,
खुशी के साये मै हो ज़िन्दगी तेरी,

वक़्त के साथ ये ज़ख्म भर जायेगा,
पल गुज़र जायेगा तु मेरी बात मान ले,
यादो के आसरे उम्र कटती नही,
है हकिकत यही, अब तु जान ले,

समुंदरो का पानी कोई ना पी सका,
समुंदरो का पानी कोई ना पी सका,
आकेला खारा जीवन कोई ना जी सका,

कहता है बाबुल, ओ मेरी बिटिया,
तु तो है मेरे, जिगर की चिठिया,
डाकिया कोई जब आयेगा,
तुझको चुरा के ले जायेगा,

कटेगा कैसे लम्हा, तेरे बिना बता,
जियुंगा कैसे तन्हा, तेरे बिना बता,
कटेगा कैसे लम्हा, तेरे बिना बता,
जियुंगा कैसे तन्हा, तेरे बिना बता,

Advertisements

4 टिप्पणियाँ »

  1. dil ko chchuu(touching) janee wali gazal hai.

    टिप्पणी द्वारा sandeep ahuja — नवम्बर 10, 2006 @ 6:43 अपराह्न | प्रतिक्रिया

  2. Hi,
    could you please provide the lyrics in hindi for “zindagi kya hai” in roman script?

    thanks!

    टिप्पणी द्वारा kabs — नवम्बर 19, 2006 @ 10:33 पूर्वाह्न | प्रतिक्रिया

  3. This one of the most touching ghazal of mine life……..thanx to this website for providing it here.

    टिप्पणी द्वारा alka sharma — अक्टूबर 10, 2007 @ 5:30 अपराह्न | प्रतिक्रिया

  4. yeh jiwan ka such hai
    bitiya hai to dukh bhi bhaut hai
    lakin dukh wo na ho, jo ajj log soch kar ji rahe hai, anne se pahle hi bitiya ko marwa rahe hai,

    kahte hai ladka kare 1 kul ko roshan
    bitiya 2 kul ke laz rakti hai

    maha dan bhi jo mana hai Kanya-Daan hi mana hai
    phir kyo kanya ko marne ka Maha-Pap karte hai

    टिप्पणी द्वारा Nilesh Jain — अप्रैल 22, 2010 @ 4:20 अपराह्न | प्रतिक्रिया


RSS feed for comments on this post. TrackBack URI

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

WordPress.com पर ब्लॉग.

%d bloggers like this: