कुछ पल जगजीत सिंह के नाम

मई 19, 2007

सुन ली जो खुदा ने वो दुआ तुम तो नहीं हो


सुन ली जो खुदा ने वो दुआ तुम तो नहीं हो ।
दरवाजे पे दस्तक की सदा तुम तो नहीं हो ।
महसूस किया तुम को तो गीली हुई पलकें ,
बदलें हुए मौसम की अदा तुम तो नहीं हो ।
अन्जानी सी राहों में नहीं कोई भी मेरा ,
किस ने मुझे युँ अपना कहा तुम तो नहीं हो ।
दुनिया को बहरहाल गिले शिकवे रहेगे ,
दुनिया की तरह मुझ से खफ़ा तुम तो नहीं हो ।

Advertisements

8 टिप्पणियाँ »

  1. अमरजीत भाई , अगर इन गजलों के बोल के साथ इन को सुनने के लिये आप लिंक भी दे दें तो इस ब्लाग पर चार चाँद लग जायें.

    टिप्पणी द्वारा DR PRABHAT TANDON — जून 10, 2007 @ 5:47 पूर्वाह्न | प्रतिक्रिया

  2. Gr8 job doing brother…keep it up.

    टिप्पणी द्वारा razak — जून 17, 2007 @ 8:25 अपराह्न | प्रतिक्रिया

  3. you are just doing a wonderfull job. My best wishes for you

    टिप्पणी द्वारा PRAMOD SHARMA — सितम्बर 4, 2007 @ 5:38 अपराह्न | प्रतिक्रिया

  4. Hi

    Wonderfull !

    Mazza aa gaya

    Best regards

    Prayag

    टिप्पणी द्वारा Prayag — सितम्बर 28, 2007 @ 12:30 अपराह्न | प्रतिक्रिया

  5. It is really marvellous Gazel. It’s influnce directally to heart. Very Nice

    टिप्पणी द्वारा Ravinder — नवम्बर 28, 2007 @ 2:11 अपराह्न | प्रतिक्रिया

  6. hi

    टिप्पणी द्वारा rinku — जुलाई 3, 2008 @ 4:14 पूर्वाह्न | प्रतिक्रिया

  7. rinku how are you

    टिप्पणी द्वारा rinku — जुलाई 3, 2008 @ 4:15 पूर्वाह्न | प्रतिक्रिया

  8. “दुनिया की तरह मुझ से खफ़ा तुम तो नहीं हो”
    वाकई जबर्दस्त गजल है। बधाई!

    टिप्पणी द्वारा dr.aalok dayaram — फ़रवरी 27, 2010 @ 8:51 अपराह्न | प्रतिक्रिया


RSS feed for comments on this post. TrackBack URI

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

WordPress.com पर ब्लॉग.

%d bloggers like this: