कुछ पल जगजीत सिंह के नाम

अक्टूबर 25, 2007

कृष्ण है श्रद्धा कृष्ण है भक्ती कृष्ण है विश्वास


कृष्ण है श्रद्धा कृष्ण है भक्ती कृष्ण है विश्वास |
कृष्ण को बेंद सुमिरन कर ले कृष्ण है तेरे पास ||

जब जब सुमिरा हरी भक्तो ने उनके पास वो आया ,
हर संकट को हरी ने हर के मन सबको हर्षाया |
सच्चे भक्तो के पापों का पल में करता नाश ||

श्रद्धा से भक्ती है मिलाती भक्ती से भगवान,
कर इसका विश्वास रे प्राणी गीता का है गयांन |
‘दास नारायण ‘ शरण तुम्हारी पूरी कर दो आस ||

Advertisements

3 टिप्पणियाँ »

  1. वाह

    टिप्पणी द्वारा wwraj — जुलाई 25, 2011 @ 7:02 अपराह्न | प्रतिक्रिया

  2. गोपाळ कृष्ण भगवान

    टिप्पणी द्वारा YOG BHOJ — अगस्त 25, 2012 @ 8:24 अपराह्न | प्रतिक्रिया

  3. I LIKE IN

    टिप्पणी द्वारा Ajay maddhesiya — जनवरी 27, 2014 @ 7:58 अपराह्न | प्रतिक्रिया


RSS feed for comments on this post. TrackBack URI

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

WordPress.com पर ब्लॉग.

%d bloggers like this: