कुछ पल जगजीत सिंह के नाम

अक्टूबर 27, 2007

जवाब जिनका नही वो सवाल होते है


जवाब जिनका नही वो सवाल होते है,
जो देखने में नही कुछ, कमाल होते है,

तराश्ता हूँ तुझे जिन में अपने लफ्जों से,
बहुत हसीन मेरे वो ख्याल होते है,

हसीन होती है जितनी बला की दो आँखें,
उसी बला के उन आंखों में जाल होते हैं,

वह गुनगुनाते हुए, यूँही, जो उठाते है,
क़दम कहाँ, वो क़यामत की चाल होते हैं,

Advertisements

9 टिप्पणियाँ »

  1. I consider it one of the best compilation of jagjit singh

    टिप्पणी द्वारा Sastry — नवम्बर 1, 2007 @ 12:24 अपराह्न | प्रतिक्रिया

  2. It’s really truthfull lines…n it’s 222222222 gud…yaar…thanx a lot………

    टिप्पणी द्वारा Payal — नवम्बर 2, 2007 @ 12:41 अपराह्न | प्रतिक्रिया

  3. kishorjadhav

    टिप्पणी द्वारा kishor — नवम्बर 28, 2007 @ 1:34 अपराह्न | प्रतिक्रिया

  4. i like this ghazal coz…

    JAWAB JINKA NAHI… WO SAWAL HOTE HAI… !

    beautiful…… no comparision

    टिप्पणी द्वारा abhinav ranjan — नवम्बर 29, 2007 @ 5:25 अपराह्न | प्रतिक्रिया

  5. Tarshta hu tujhe jin me apne lafzoo se
    Bahut hassen mere woh khyal hote hai
    ….. this are the most amazing lines….i jaz love this…

    टिप्पणी द्वारा Hunaid — दिसम्बर 4, 2007 @ 11:31 पूर्वाह्न | प्रतिक्रिया

  6. such a mind blowing ghazal, it touches stings of heart

    टिप्पणी द्वारा priyank — दिसम्बर 29, 2007 @ 1:51 अपराह्न | प्रतिक्रिया

  7. so beautifull, so reality I have no word abour it………………………………………

    टिप्पणी द्वारा Mukesh kumar kori — जुलाई 21, 2010 @ 7:09 अपराह्न | प्रतिक्रिया

  8. बहुत सुंदर शब्द रचना।
    और वजनदार ग़ज़ल।

    टिप्पणी द्वारा कुलदीप कुमार — मई 24, 2015 @ 5:15 पूर्वाह्न | प्रतिक्रिया

  9. जगजीत सिंह की सभी ग़ज़ल बहुत ही अच्छी है
    और मुझे बेहद ही पसंद है आप जी की ग़ज़ल ही ने मुझे जीने की राह दिखाई है और इन ग़ज़लों को सुनकर मुझे बेहद सुख व आनंद की प्राप्ति होती है।
    में जब भी जीवन जे किसी मोड पर निराश व हताश होता हूँ तब ग़ज़ले ही मेरे जीवन को नव चेतना व नयी दिशा प्रदान करती है।

    टिप्पणी द्वारा अतुल कुमार गुप्ता — दिसम्बर 15, 2015 @ 4:31 अपराह्न | प्रतिक्रिया


RSS feed for comments on this post. TrackBack URI

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

WordPress.com पर ब्लॉग.

%d bloggers like this: