कुछ पल जगजीत सिंह के नाम

नवम्बर 22, 2007

जब भी आती है तेरी याद


जब भी आती है तेरी याद कभी शाम के बाद,
और बढ़ जाती है अफ़्सुर्दादिली शाम के बाद,

अब इरादों पे भरोसा है ना तौबा पे यकीं,
मुझ को ले जाये कहां तशनालबी शाम के बाद,

यूँ तो हर लम्हा तेरी याद का बोझल गुज़रा,
दिल को महसूस हुई तेरी कमी शाम के बाद,

यूँ तो कुछ शाम से पहले भी उदासी थी ‘अदीब’,
अब तो कुछ और बढ़ी दिल की लगी शाम के बाद,

Lyrics: Krishan Adeeb
Singer: Jagjit Singh

Advertisements

1 टिप्पणी »

  1. jab sunte the tab lagta tha ,likhne vale ne dil ki bat kahi hai.aaj bhi purani yado ki chadar kheench lata hai

    टिप्पणी द्वारा anurag arya — दिसम्बर 1, 2007 @ 5:58 अपराह्न | प्रतिक्रिया


RSS feed for comments on this post. TrackBack URI

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

वर्डप्रेस (WordPress.com) पर एक स्वतंत्र वेबसाइट या ब्लॉग बनाएँ .

%d bloggers like this: