कुछ पल जगजीत सिंह के नाम

मार्च 17, 2008

मुझसे मिलने के वो करता था बहाने कितने


मुझसे मिलने के वो करता था बहाने कितने,
अब गुजारेगा मेरे साथ ज़माने कितने,

मैं गिरा था तो बहुत लोग रुके थे लेकिन,
सोचता हूँ मुझे आए थे उठाने कितने,

जिस तरह मैंने तुझे अपना बना रखा है,
सोचते होंगे यही बात न जाने कितने,

तुम नया ज़ख्म लगाओ तुम्हे इससे क्या है,
भरने वाले है अभी ज़ख्म पुराने कितने,

Singer: Chitra Singh

Advertisements

1 टिप्पणी »

  1. WAAAAAAAAH KYA BAAT HAI YAAR YE GHAZAL PADKAR TO PURANI YAAD TAZAHO GAI HAI
    I THINK THIS GHAZAL IS THA GOLD DISC
    RIGHT NA

    THAKS N BYE KEEP WRITING

    टिप्पणी द्वारा ARVIND — जनवरी 13, 2009 @ 11:51 पूर्वाह्न | प्रतिक्रिया


RSS feed for comments on this post. TrackBack URI

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

वर्डप्रेस (WordPress.com) पर एक स्वतंत्र वेबसाइट या ब्लॉग बनाएँ .

%d bloggers like this: