कुछ पल जगजीत सिंह के नाम

नवम्बर 27, 2007

तुम को देखा तो ये ख़याल आया


तुम को देखा तो ये ख़याल आया,
ज़िंदगी धुप तुम घना छाया,

आज फिर दिल ने इक तमन्ना की,
आज फिर दिल को हमने समझाया,

तुम चले जाओगे तो सोचेंगे,
हमने क्या खोया हमने क्या पाया,

हम जिसे गुनगुना नही सकते,
वक्त ने ऐसा गीत क्यूं गाया,

Advertisements

वर्डप्रेस (WordPress.com) पर एक स्वतंत्र वेबसाइट या ब्लॉग बनाएँ .