कुछ पल जगजीत सिंह के नाम

अक्टूबर 25, 2007

कृष्ण है श्रद्धा कृष्ण है भक्ती कृष्ण है विश्वास


कृष्ण है श्रद्धा कृष्ण है भक्ती कृष्ण है विश्वास |
कृष्ण को बेंद सुमिरन कर ले कृष्ण है तेरे पास ||

जब जब सुमिरा हरी भक्तो ने उनके पास वो आया ,
हर संकट को हरी ने हर के मन सबको हर्षाया |
सच्चे भक्तो के पापों का पल में करता नाश ||

श्रद्धा से भक्ती है मिलाती भक्ती से भगवान,
कर इसका विश्वास रे प्राणी गीता का है गयांन |
‘दास नारायण ‘ शरण तुम्हारी पूरी कर दो आस ||

WordPress.com पर ब्लॉग.