कुछ पल जगजीत सिंह के नाम

मई 19, 2007

मुझे तुम से मोहब्बत हो गई हैं


मुझे तुम से मोहब्बत हो गई हैं ।
ये दुनिया खुबसुरत हो गई हैं ।
खुदा से रोज तुम को मांगते है ,
मेरी चाहत इबादत हो गई है ।
वो चेहरा चांद है , आंखे सितारे ,
ज़मी फुलों की ज़न्नत हो गई है ।
बहुत दिन से तुम्हें देखा नहीं है ,
चले भी आओ मुद्दत हो गई है ।

वर्डप्रेस (WordPress.com) पर एक स्वतंत्र वेबसाइट या ब्लॉग बनाएँ .